यहां आईएएस ने दी सलाह, क्या 2 घंटे के लिए खोले जाएं शराब दुकान, सोशल मीडिया में पोस्ट वायरल, डॉक्टर्स बोले यह – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
देश विदेश

यहां आईएएस ने दी सलाह, क्या 2 घंटे के लिए खोले जाएं शराब दुकान, सोशल मीडिया में पोस्ट वायरल, डॉक्टर्स बोले यह

लॉकडाउन में राशन, दवा और दूध जैसी आवश्यक चीजों को छोड़कर सबकुछ प्रतिबंधित किया गया है. जरूरी चीजें जैसे दवा, राशन, सब्जी, दूध जैसी दुकानों को छोड़कर सभी व्यवसायिक गतिविधियां ठप पड़ी हुई हैं।

लॉक डाउन में एक आईएएस ने सरकार को बेहद ही अटपटा सा सुझाव दिया है. चंडीगढ़ के आईएएस मनोज परीदा ने कहा है कि उन्हें एक डॉक्टर ने सुझाव दिया है कि 2 घंटे के लिए शराब की दुकानें खोली जाएं, क्योंकि कहीं ऐसा न हो कि शराब की लत के शिकार लोग ड्रग लेने लग जाएं।

गौरतलब है कि आईएएस मनोज परीदा चंडीगढ़ में बड़ी प्रशासनिक जिम्मेदारी संभालते हैं. वे चंडीगढ़ के प्रशासक बी पी बदनोर के प्रशासनिक एडवाइजर हैं. ट्विटर पर उन्होंने आम जनता से पूछा है कि एक डॉक्टर ने उन्हें सलाह दी है कि कहीं शराब की लत के शिकार लोग ड्रग एडिक्ट ना बन जाएं या फिर डिप्रेशन में ना चले जाएं तो ऐसे लोगों के लिए दिन में 2 घंटे शराब के ठेके चंडीगढ़ में खोले जाएं या नहीं ? कृपया आप लोग अपनी सलाह दें।

यह भी पढ़िए – गर्भवती माताओं के लिए कोरोना से क्या हैं खतरें, जानिए इस सवाल का जवाब यहाँ

उनका यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है और हर तरफ इस बारे में चर्चा की जा रही है. वहीँ इस बारे में मनोचिकित्सकों और डॉक्टरों का कहना है कि शराब न मिलने की वजह से इसके आदी लोगों को मानसिक समस्याएं हो सकती हैं। मनोचिकित्सकों और डॉक्टरों का कहना है कि शराब न मिलने की वजह से इसके आदी लोगों को मानसिक समस्याएं हो सकती हैं।

यह भी पढ़िए – लॉक डाउन से चमक रही है पोर्न इंड्रस्ट्री, 95 फीसद ट्रैफिक पोर्न वेबसाइटों पर

डॉक्टरों का कहना है जो लोग रोज शराब पीते हैं उन्हें समस्या हो सकती है, जब उन्हें शराब ना मिले तो कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। डॉक्टर कृष्णन ने आगे कहा कि “ऐसी समस्याओं के लक्षण शराब ना मिलने के दो से तीन दिन बाद ही नजर आते हैं, ऐसे लोगों को घबराहट हो सकती है, पसीना आ सकता है, दिल की धड़कन तेज हो सकती है. ऐसे लोगों के अंदर गुस्सा ज्यादा आता है या चिड़चिड़ापन हो जाता है।

Related Articles

Back to top button