COVID19 – इस जगह नर्सिंग होम से आने लगी बदबू , अंदर गए तो लगा था लाशों का अम्बार – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
देश विदेश

COVID19 – इस जगह नर्सिंग होम से आने लगी बदबू , अंदर गए तो लगा था लाशों का अम्बार

अमेरिका (USA) के कोरोना प्रभावित राज्यों में न्यूयॉर्क (New York) के बाद न्यू जर्सी (New Jersey) का ही नाम सबसे ऊपर है. कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामलों की वजह से नर्सिंग होम्स, केयर होम्स और ओल्ड ऐज होम्स की लगातार अनदेखी हो रही है. इटली (Italy), स्पेन (Spain) और ब्रिटेन (Britain) से केयर होम्स में सैकड़ों मौतों की खबर आ चुकी है।

ऐसा ही एक मामला अब न्यू जर्सी में सामने आया है, यहां नर्सिंग होम से बदबू आने के बाद किसी अनजान व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो अंदर लाशों का ढेर लगा था। इस नर्सिंग होम को न्यू जर्सी के सबसे बड़े निजी नर्सिंग होम्स में से एक माना जाता है. पुलिस ने बताया कि इस नर्सिंग होम के मुर्दाघर से उन्हें 18 लाशें बरामद हुई हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक लाश नर्सिंग होम में थी जबकि 17 लाशें मुर्दाघर में रखी गयी थीं. बता दें कि इस मुर्दाघर में सिर्फ 4 लाशों को रखने की ही सुविधा है लेकिन यहां 17 लाशें क्यों रखी हुईं थीं इसकी जांच चल रही है. पुलिस चीफ सी डेलसन ने बताया कि शुरूआती जांच में नर्सिंग होम प्रशासन ने बताया है कि ये कोरोना से हुईं मौतें हैं और उनके पास लाशें रखने के लिए दूसरी जगह और बॉडी बैग्स नहीं थे।

न्यूजर्सी पुलिस के मुताबिक ये घटना एक अन्य केयर होम फैसिलिटी जैसी लग रही है जिसमें अनदेखी के चलते 68 लोगों की मौत हो गयी थी, इनमें से 26 की मौत कोरोना से हुई थी और बाकी की जांच अभी की जा रही है. इस केयर होम में काम करने वालीं 2 नर्सों की भी मौत हुई थी और उनकी लाश भी केयर होम से ही बरामद हुई थी. इस केयर होम से 78 अन्य लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

बीते हफ्ते ब्रिटेन की सरकार पर आरोप लगा था कि केयर होम्स की अनदेखी के चलते वहां रह रहे 6000 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना से हो गयी है. उधर यूके सरकार के डेटा में अभी नर्सिंग होम्स में हो रही मौतों को शामिल ही नहीं किया जा रहा है. केयर यूके के चीफ एक्जीक्यूटिव मार्टिन ग्रीन के मुताबिक केयर होम्स में हो रही मौतों पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है, सभी का ध्यान NHS पर है।

Related Articles

Back to top button