छत्तीसगढ़ – स्टाफ़ और शिक्षक हो रहे कोरोना संक्रमित, बोर्ड परीक्षा के दौरान छात्र कैसे बचेंगे? – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
छत्तीसगढ़रायपुररायपुर संभाग

छत्तीसगढ़ – स्टाफ़ और शिक्षक हो रहे कोरोना संक्रमित, बोर्ड परीक्षा के दौरान छात्र कैसे बचेंगे?

छत्तीसगढ़ में 15 अप्रैल से बोर्ड परीक्षा शुरू हो रहे हैं, लेकिन परीक्षा से पहले कई शिक्षक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. अगर स्कूलों में शिक्षक के साथ अन्य स्टाफ़ संक्रमित होंगे तो छात्र संक्रमण से कैसे बचेंगे. यह एक बड़ा सवाल है. मिली जानकारी के अनुसार रायपुर के राजा तालाब स्थित बीपी पुजारी स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी मीडियम स्कूल का है. यहां देखते देखते 6 शिक्षक एवं अन्य स्टाफ कोरोना संक्रमित हो गए.

READ ALSO – छत्तीसगढ़ – लॉकडाउन में दुर्ग का नजारा सभी सड़कें है खाली, देखें तस्वीरें

बावजूद इसके ना स्कूल को सेनेटाइज कराया गया ना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वालों लोगों को क्वारंटाइन किया गया है. रोज की तरह स्कूल खोला जा रहा है. स्टॉप को दबाव बनाकर बुलाया जा रहा है. गौर करने वाली बात ये है कि 15 अप्रैल से बोर्ड परीक्षा के लिए स्कूल को सेंटर बनाया गया है. ऐसे में बच्चों को कोरोना से संक्रमित होने का खतरा है.

READ ALSO – सीएम भूपेश बघेल ने बुलाई आपात बैठक, कोरोना को लेकर बड़े फैसले लिए जाने की संभावना

वहीं बड़ी लापरवाही देखने मिल रही है कि अभी कोरोना ट्रेसिंग के लिए फोन भी नहीं आया है और ना ही स्कूल को सेनेटाइज किया गया है, स्कूल को बंद करने की जगह दवाब पूर्वक स्कूल में सभी स्टाप को बुलाया जा रहा है. मिली जानकारी के मुताबिक, स्कूल के आस पास 50 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. स्कूल बंद नहीं किए तो खतरे में छात्र होंगे.

स्टाप के लोगों का कहना है कि डर तो लगता है घर में बच्चे है, बूढें दादा-दादी है. स्कूल से घर जाने का मन नहीं करता है. क्योंकि घर में संक्रमण फैलने का डर है. ऐसे में स्कूल बुलाया जा रहा है इसलिए स्कूल आते हैं. कुछ दिन के लिए स्कूल बंद कर वर्क फ्राम होम से काम लिया जा सकता है बच्चे तो स्कूल नहीं आ रहे हैं.

READ ALSO – छत्तीसगढ़ – RDA भी कोरोना का हॉटस्पॉट बना, 35 स्टाफ हुए कोरोना संक्रमित

जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारे का कहना कि जानकारी छिपाना गलत बात है. नियमानुसार स्कूल बंद कर सेनेटाईज किया जाएगा, ताकी आगे बोर्ड परीक्षा विद्यार्थी प्रभावित ना हो, कम से कम तीन दिन के लिए बंद किया जाएगा. जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ मीरा बघेल का कहना है कि कोरोना तो सबको हो रहा है, बढ़ते कोरोना के मद्दे नजर कंटेनमेंट जोन का प्रावधान है, इलाके को कंटेनमेंट घोषित किया जाएगा.

Related Articles

Back to top button