इंस्पायर अवार्ड मानक योजना में छत्तीसगढ़ को देश में तीसरा स्थान – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
छत्तीसगढ़रायपुररायपुर संभाग

इंस्पायर अवार्ड मानक योजना में छत्तीसगढ़ को देश में तीसरा स्थान

राज्य के 3391 विचारों का चयन मानक अवार्ड के लिए

रायपुर भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के अंतर्गत विज्ञान एवं सामाजिक अनुप्रयोगों में मूल विचार एवं नवाचारों के नामांकन के लिए छत्तीसगढ़ को देश के तृतीय सर्वश्रेष्ठ राज्य के रूप में चयनित किया गया है। इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत राज्य से विज्ञान एवं सामाजिक अनुप्रयोगों में मूल विचारों एवं नवाचारों हेतु भेजे गए कुल 55 हजार 565 नामांकन में से 3391 विचारों एवं नवाचारों का चयन मानक अवार्ड के लिए किया गया है।

READ ALSO – बलौदाबाजार – इस बार पुलिस को नहीं चलाना पड़ रहा है डंडा जनता ने खुद स्वीकार किया लॉक डाउन

भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव आशुतोष शर्मा ने छत्तीसगढ़ राज्य के प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला को प्रेषित पत्र में छत्तीसगढ़ राज्य की इस उल्लेखनीय उपलब्धि की सराहना की है। उन्होंने इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत मूल विचारों एवं नवाचारों को बेहतर बनाने के लिए विभाग द्वारा शिक्षकों का प्रशिक्षण राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में किए जाने तथा इसके लिए सलाहकार डॉ. संजय मिश्रा, संचालक डॉ. विपिन कुमार को इसके लिए राज्यों के शिक्षा विभाग से संपर्क किए जाने की जानकारी दी है।

READ ALSO – इनडोर स्टेडियम में 20 कोरोना संक्रमितों की मौत से साफ़ हो गया कि प्रदेश सरकार कोरोना रोकने में आधे-अधूरे मन से काम कर रही : भाजपा

उन्होंने उम्मीद जताई है कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने और शिक्षकों को युवा छात्रों के बीच रचनात्मक नवाचार की बेहतर समझ और प्राकृतिक संस्कृति के प्रशिक्षण के लिए आपका आवश्यक सहयोग एवं मार्गदर्शन प्राप्त होगा। गौरतलब है कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा सफलतापूर्वक इंस्पायर अवार्ड मानक योजना 10 से 15 वर्ष की उम्र के बच्चे जो कि कक्षा छठवीं से कक्षा दसवीं में अध्ययरत हैं, उन्हें विज्ञान और सामाजिक अनुप्रयोगों की तरफ आकर्षिक और प्रेरित करने उनमें महत्वपूर्ण विचार एवं नवप्रवर्तन की भावना उत्पन्न करने के लिए संचालित किया जा रहा है। इस योजना का उद्देश्य नवसृजन एवं नवाचार, रचनात्मक और अभिनव सोच को स्कूली छात्रों में बढ़ावा देना है।

Related Articles

Back to top button