BREAKING NEWS – केंद्रीय जेल में पांच कैदियों की अब तक कोरोना से मौत हो चुकी, अब 70 कैदी भी हुए कोरोना संक्रमित – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
छत्तीसगढ़रायपुररायपुर संभाग

BREAKING NEWS – केंद्रीय जेल में पांच कैदियों की अब तक कोरोना से मौत हो चुकी, अब 70 कैदी भी हुए कोरोना संक्रमित

रायपुर कोरोना की दूसरी लहर से प्रदेश के जेल में निरुद्ध कैदी भी डर रहे हैं. रायपुर और दुर्ग केंद्रीय जेल में निरुद्द पांच कैदियों की अब तक कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है, वहीं करीबन 70 कैदी संक्रमित हो चुके हैं. यह तब है जब जेल में ले जाने से पहले कैदियों का बाकायदा टेस्ट किया जा रहा है. हालात को देखते हुए फिर से कैदियों को पैरोल पर छोड़ जाने की मांग उठने लगी है।

रायपुर केंद्रीय जेल अधीक्षक कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक़, जनवरी 24 अप्रैल 21 तक जेल में 21 कैदी कोरोना संक्रमित हुए हैं, वहीं 3 कैदियों की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हुई है. बताया गया कि नव प्रवेशी कैदियों को एंटीजन टेस्ट निगेटिव आने के बाद के बाद जेल में प्रवेश दिया जाता है, फिर आरटीपीआर टेस्ट कर रिपोर्ट आने तर अलग बैरक में रखा जाता है.

READ ALSO – छत्तीसगढ़ – एसडीएम ने वैवाहिक कार्यक्रमों में नियमों का उल्लंघन पर कार्रवाई, वसूले 35 हजार का जुर्माना

लेकिन आरटीपीआर रिपोर्ट 5 से 10 दिन तक लेट आने से कई कैदियों की तबियत बिगड़ जाती है. रायपुर जेल में तीन कैदियों की हुई मौत आप को बता दे कि रायपुर केंद्रीय जेल में निरुद्ध बंदी सुखलाल को 10 अप्रैल को इलाज के लिए मेकाहारा में भर्ती किया, जहां 12 अप्रैल को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इसी तरह बंदी होरीलाल की 17 अप्रैल को इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं बंदी कमला निराला को 16 अप्रैल को मेकाहारा में भर्ती किया गया, जहां 17 अप्रैल को उसने अंतिम सांस ली.

READ ALSO – घुमंतू मवेशियों को चारा खिलाने में गौ सेवा मंडल ने दिया नगर निगम का साथ

दुर्ग केंद्रीय जेल में 59 कैदी मिले संक्रमित वहीं केंद्रीय जेल दुर्ग कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक़, कोरोना के दूसरे लहर में अब तक दो कैदियों की मौत हुई है. 59 कैदी संक्रमित पाए गए हैं, इसमें 7 कैदी संक्रमित रिपोर्ट के साथ आए थे, और 7 कैदी पैरोल से वापस आने पर संक्रमित पाए गए हैं. दुर्ग केंद्रीय जेल में महिला बंदी कविता ठाकुर में 12 अप्रैल को जाँच के दौरान ऑक्सीजन कम पाए जाने पर दुर्ग जिला चिकित्सालय भेजा गया, जहां 15 अप्रैल को उसकी मौत हो गई.

READ ALSO – ब्रेकिंग न्यूज़ – कोविशील्ड वैक्सीन की 2 लाख डोज पहुंची रायपुर, देखे तस्वीरें

इसी तरह 92 वर्षीय बंदी दयाराम को 13 अप्रैल को उपचार के लिए चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां 22 अप्रैल को उसकी मौत हो गई. गृहमंत्री ने जिलों से मंगाई जानकारी गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना के क़हर को देखते हुए सभी ज़िलों से वहाँ की स्थिति को लेकर जानकारी माँगी गई है, और दिशा-निर्देश दिया गया है कि कोरोना एडवाइजरी का सख़्त पालान करायी जाएं. वहीं उन्होंने कैदियों को पैरोल पर छोड़ जाने के फैसले को लेकर किए गए सवाल पर कहा इस संबंध में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है, क्योंकि सभी जेलों में कोरोना संक्रमण की स्थिति नहीं है.

Related Articles

Back to top button