सरगुजा जिले मे 10 दिन का सख्त लॉकडाउन, फुटपाथ मे खस के लिए दुकान लगाने वाले भाई बहन के सामने आई मुसीबत – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
छत्तीसगढ़

सरगुजा जिले मे 10 दिन का सख्त लॉकडाउन, फुटपाथ मे खस के लिए दुकान लगाने वाले भाई बहन के सामने आई मुसीबत

भाई बहन पर कोरोना का कहर ऐसा बरपा की रोजी रोटी का संकट आ खड़ा हुआ है एक तरफ संक्रमण का खतरा दुसरी तरह रोजी रोटी का संकट ने इनकी आखो को नम कर दिया है

सोनु केदार अम्बिकापुर – कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने के लिए सरगुजा जिले मे 10 दिन का लॉक डाउन लगा दिया गया है वही लगे इस लॉक डाउन से रोज कमाने खाने वाले परिवार के लिए मुसीबत पैदा कर दी है. हम बात कर रहे है एक ऐसे परिवार की जो  गर्मियों के मौसम में कूलर के खस लगाने के काम के लिए अम्बिकापुर आता है लेकिन इस लॉक डाउन ने उनकी मुसीबत बढ़ा दी है। देखिए ये खबर 

अम्बिकापुर के घड़ी चौक में खाना बनाती ये महिला कूलर में खस लगाने का काम करती है महिला और उसका भाई  महाराष्ट्र के गोंदिया से अम्बिकापुर आते है और फुटपात मे कूलर में खस  लगाकर अपना आजीविका चलते है लेकिन इन भाई बहन पर कोरोना का कहर ऐसा बरपा की रोजी रोटी का संकट आ खड़ा हुआ है एक तरफ संक्रमण का खतरा दुसरी तरह रोजी रोटी का संकट ने इनकी आखो को नम कर दिया है शांति प्रकाश कहते है पिछले लॉक डाउन में इनका काम पूरी तरह ठप हो गया था इस साल भी लगता है काम नही चल पायेगा ,बच्चा बीमार है बैंक बंद  है पैसा भी परिवार को नही भेज पा रहे।

ये भाई बहन  वर्षो से शहर के घडी चौक के पास फुटपात मे खस की दुकान लगाते है  और लोगो को गर्मी से राहत देने का काम करते है.  लेकिन बढते संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन ने भाई बहन के काम ठप पड़ा हुआ है  हालाकि जिले के कलेक्टर संजीव झा ने ऐसे मझौले और बाहर से आकर व्यवसाय कर रहे लोगों की मदद का आश्वासन जरूर दिया है।

बहरहाल रोजी रोटी की तलाश में सरगुजा पहुचे लोगो की  समस्या को जिला मुखिया ने मदद करने का आश्वासन तो दिया है लेकिन कोरोना महामारी जैसे संकट में ऐसे व्यपारियो के सामने रोजी रोटी का संकट आन खड़ा हुआ है।

Related Articles

Back to top button