गरियाबंद – गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने के साथ ही कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जांच की संख्या बढ़ाने पर जोर – cgtop36.com | Cgtop36 Chhattisgarh exclusive news web portal
CGTOP36गरियाबंदछत्तीसगढ़रायपुर संभाग

गरियाबंद – गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने के साथ ही कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जांच की संख्या बढ़ाने पर जोर

राज्य में प्रति दिन 53 हजार से अधिक लोगों की हो रही कोरोना जांच, गंभीर मरीजों के लिए ब्लाक स्तरीय कोविड सेंटरो में भी उपलब्ध है ऑक्सीजनयुक्त बेड, फिंगेश्वर और छुरा जनपद के पदाधिकारियों ने अपनी ओर से दिए 47 ऑक्सीजन सिलेण्डर , बेहतर चिकित्सा सुविधा के चलते सत्तीगुड़ी गांव में 30 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ्य होकर घर लौटे

राज्य सरकार कोरोना वायरस (कोविड-19) जैसे महामारी से बचाव एवं नियंत्रण के लिए हर संभव प्रसाय कर रही है। कोरोना संक्रमण की स्थिति को ध्यान में रखते हुए राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के सभी जिलों में सामाजिक, व्यापारिक और स्वयं सेवी संगठनों तथा जनप्रतिनिधियों के सहयोग से प्रशासन निरंतर कोरोना मरीजों के बचाव एवं उपचार और संक्रमण की रोकथाम में जुटा है। जिलों व दूरस्थ अंचलों में ब्लाक स्तर पर स्थित कोविड सेटरों मंे भी यथासंभव ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा रहा है, ताकि मरीजो की जान बचाई जा सके।

Read Also –वीडियो – स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव का बड़ा बयान, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर के संबंध में कहा यह

कोविड अस्पतालों और कोविड केयर सेंटरों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ-साथ चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टॉफ की सेवा एवं इलाज के चलते कोरोना मरीज जल्द रिकवर भी कर रहे हैं। वहीं राज्य सरकार लोगों को संक्रमण से बचाने जिला स्तर पर आरटी-पीसीआर लैब स्थापित करने में जुटी है, ताकि कोरोना का टेस्ट सहजता से अविलम्ब हो सके और कोरोना संक्रमितों की तेजी से इलाज कर उनके जीवन की रक्षा की जा सके।

Read Also – सरगुज़ा में कोरोना वायरस पहुंचा गावों तक, फूटा इन जगहों पर कोरोना बम

प्रदेश सरकार के प्रयासांे का ही परिणाम है कि जांजगीर-चांपा जिले के बलोदा विकासखंड के ग्राम सत्तीगुड़ी में कोरोना पाजीटिव 30 मरीज स्वस्थ होकर सामान्य हो गए हैं। शेष संक्रमित मरीजों का स्वास्थ्य भी पहले से बेहतर है और उनके स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है। पाजीटिव मरीजों का नियमित उपचार और हौसला अफजाई से मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। कुल 680 की आबादी वाले सत्तीगृड़ी गांव में 450 से अधिक लोगों का टेस्ट किया गया, जिसमें अब तक 135 ग्रामीण कोरोना संक्रमित मिले थे, जिला प्रशासन द्वारा इलाज की त्वरित व्यवस्था से संक्रमित लोगों अब स्वस्थ्य होने लगे हैं।

Read Also – गरियाबंद – शादी का झांसा देकर एक साल से करता रहा शारीरिक शोषण, शादी से मुकर गया युवक, मामला दर्ज

कोरोना संक्रमित गंभीर मरीज जिन्हे ऑक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता है उनके लिए जनपद पंचायत फिंगेश्वर और जनपद पंचायत छुरा के पदाधिकारियों ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए अपनी ओर से 47 ऑक्सीजन सिलेंडर स्थानीय कोविड केयर सेंटर में उपलब्ध कराया है। उनकी इस मानवीय एवं सवेंदनशील पहल को लोगों ने सराहा है। जनपद पंचायत फिंगेश्वर की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा जगन्नाथ साहू, उपाध्यक्ष श्री योगेश साहू एवं सदस्यगणों द्वारा 25 आक्सीजन सिलेंडर का योगदान दिया गया है।

Read Also – छत्तीसगढ़ – निजी चिकित्सालय पर आरोप, 35 साल के लोगों को लगाया कोरोना टीका, जारी हुवा नोटिस

वहीं जनपद पंचायत छूरा के अध्यक्ष तोकेश्वरी मांझी एवं उपाध्यक्ष श्री गौरव मिश्रा और सदस्यों द्वारा 22 ऑक्सीजन सिलेंडर प्रदान किया गया है। इन सिलेंडरों का उपयोग कोविड-19 केयर सेंटर में गंभीर मरीजों ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। मुंगेली जिलें भी कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए जिले में 4 कोविड केयर सेंटर स्थापना की गई है। इनमें जिले के ग्राम रामगढ़ मुंगेली में संचालित अनुसूचित जाति बालिका छात्रावास में 50 बिस्तर, विकास खण्ड लोरमी के ग्राम सारधा में संचालित आईटीआई में 100 बिस्तर और विकासखण्ड मुख्यालय पथरिया में संचालित अनुसूचित जाति बालक छात्रावास तथा सरगांव में संचालित कस्तूरबा गांधी हायर सेकेण्डरी स्कूल में 90 बिस्तर की कोविड केयर सेंटर स्थापित की गई है।

Related Articles

Back to top button